User Image
Drag to reposition cover
user avatar
user avatar

vijay

Male

0

Friends

0

Albums

25

posts

6 days ago - Translate

एक गाँव में बाहर से आकर एक ब्राह्मण रहने लगा ।

उसने गाँव की एक लड़की के साथ शादी कर ली ।

उसके दो बच्चे हुए ।

एक का नाम राजाराम और दूसरे का नाम सीताराम था ।

दोनों बड़े हुए इसलिए जरूरत बढ़ी ।

माँग कर पेट भरना मुश्किल था और मेहनत वाला कोई काम तो ब्राह्मण नहीं करेगा ।

दान दक्षिणा से ही काम चलायेगा ।
ऐसे में सरपंच का चुनाव एक साल आने वाला था ।

दोनों ब्राह्मण पुत्रों ने रोज एक दूसरे से लड़ना चालू किया और गाँव के लोगों को अपने पक्ष में करने लगे ।

पूरा गाँव दो भागों में बँट गया ।आधा राजाराम के पक्ष में और आधा सीताराम के पक्ष में ।

चुनाव में राजाराम जीत गया और सरपंच बन गया ।

दोनों का रहना एक ही घर में था ।ब्राह्मण की लॉटरी लग गयी ।

पूरा घर और राजाराम सीताराम की बहुएँ खुश हो गयी , क्योंकि घी तो खीचड़ी में ही जानेवाला था । यानि फायदा दोनों को था ।

राजाराम 5 साल में भ्रष्टाचार करके काफी सम्पत्ति इकट्ठी कर ली ।

चुनाव नजदीक आते ही सीताराम ने राजाराम के भ्रष्टाचार को expose करना चालू कर दिया और गाँव वाले से कहने लगा कि मुझे सरपंच बना दे तो मैं राजाराम को जेल में डलवा दूँगा ।और ऐसा बोल कर वह खुद सरपंच चुनाव के लिये योग्य उम्मीवार बन गया ।

चुनाव आते ही ज्यादातर गाँव के लोग सीताराम के समर्थन में आ गये और चुनाव होते ही सीताराम पूर्ण बहुमत से चुनाव जीतने गया ।

आज सीताराम सरपंच है और राजाराम की पत्नी उपसरपंच है ।

पूरा गाँव के लोग इसलिए खुश है क्योंकि राजाराम हार गया ।

1000 लोगों की बस्ती वाले इस गाँव में पिछड़े वर्गों की बस्ती का बहुमत है पर ब्राह्मणों ने आज तक उनको एक होने नहीं दिया है ।
राजाराम और सीताराम अपनी गिनी जानेवाली उच्च जाति के दबंगों को साथ में रखते हैं।

कोई भी पिछड़ा ऊँचा नीचा हो तो दबंगों के द्वारा धमकियाँ दिलाकर चुप करा देते हैं और खुद पूरे गाँव में संत बना रहता है ।

इस बात को आज 70 साल हुए, पर आज भी उसी गाँव का सरपंच वही ब्राह्मण का लड़का है ।

न राजाराम जेल में गया , न सीताराम ।

दोनों के पास अकूत सम्पत्ति है , पर फिर भी पूरा गाँव दोनों को अलग अलग समझता है और बारी बारी से उनको चुनता है ।

समझ आये तो सलाम ।

image
Please log in to like,wonder,share and comment !
10 days ago - Translate

लोक तंत्र की हत्या, कर्नाटका...

image
Please log in to like,wonder,share and comment !
18 days ago - Translate

शानदार,ज़बर्दस्त #चमार_रेजिमेंट जिंदाबाद..!!!
-------------------------------------------------------
चमार रेजिमेंट पन्द्रह कोर का हिस्सा बनकर पेसिफिक वार जापानीज फ्रंट पर लड़ी और उसने 'बैटल ऑनर ऑफ कोहिमा 'प्राप्त किया। जो एक बड़ा सम्मान का विषय था। और जापान को हराने में यह रेजिमेंट एक महत्वपूर्ण भूमिका अदा की थी।
.
यह कोर कमान लेफ्टिनेंट जनरल एलेग्जेंडर फ्रेंक क्रिस्टीशन के हाथों में थी और दो सौ अडसठ ब्रिगेड की कमान ब्रिगेडियर जी .एम. डायर के हाथ में थी इसी ब्रिगेड में चमार रेजिमेंट था I
इम्पीरियल आर्मी द्वितीय एवं तृतीय अराकान कैम्पेन चला रही थी Iतृतीय अराकान कैम्पेन ने मई उन्नीस सौ पैतालीस में रंगून को अपने अधिकार में ले लिया।
.
इस युद्ध में जो चमार रेजिमेंट के जवानों व अफसर शहीद हुएं उनकी याद में रंगून में वार मेमोरियल बना है। इस मेमोरियल में शहीद हुए चमार रेजिमेंट के जवानों को रोल ऑफ ऑनर भी प्रदान किया गया था...!!!

image
Please log in to like,wonder,share and comment !
18 days ago - Translate

डॉक्टर साहब को अमेरिका के रिसर्ज सेन्टर बाले खोज रहे हैं...

image
Please log in to like,wonder,share and comment !

  • 25 posts
  • Male